What is a Oprating System In Hindi Full Information?

Hello friends welcome to Prajapatiweb.com

दोस्तों आज की   इस पोस्ट में मैं आपको बताने वाला हूं कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है और इसका यूज किया है अगर आप भी जानना चाहते हैं कि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़िए

एक ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोग्रामओं का संग्रह होता है जो कंप्यूटर उपयोग करने से जुड़े कई तकनीकी विवरण को संभालते हैं कई प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टमकंप्यूटर प्रोग्राम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है काम करने वाले ऑपरेटिंगसिस्टम के बगैर आप अपने कंप्यूटर में कोई भी कार्य नहीं कर सकते हैं

कार्य

प्रत्येक कंप्यूटर में एकऑपरेटिंग सिस्टम होता है और  हर ऑपरेटिंग सिस्टम कई तरह के कार्यकरते हैं इन कार्यों को तीन समूहों में बांटा जा सकता है

Also read this.

Computer Virus Attack kya hota hai ? Prajapatiweb.com

Android Apps Free Me kaise banaye || Top 5 Website make android apps 2019

Top 10 Computer Ki Important Bate [ in hindi] with Windows Shortcut Key – prajapatiweb.com

 

  1. संसाधनों को नियंत्रित करना
  2. यूजर इंटरफ़ेस प्रदान करना
  3. रनिंग एप्लीकेशन
  1. संसाधनों को नियंत्रित करना = ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर के सभीसंसाधनों में घूमता रहता है जिसमें मेमोरी,  प्रोसेसिंग, स्टोरेज और प्रिंटर व मॉनिटर जैसेउपकरण शामिल है  यह सिस्टम प्रदर्शन की निगरानी करता हैकामों को निर्धारित करता है, सुरक्षा प्रदान करता है और कंप्यूटर को शुरू करता है
  2. यूजर इंटरफेस प्रदान करना = ऑपरेटिंग सिस्टम में यूजर को एक यूजरइंटरफेस के जरिए एप्लीकेशन प्रोग्राम और कंप्यूटर हार्डवेयर से इंटरेक्ट करानेका मौका मिलता है मूल रूप सेऑपरेटिंग सिस्टम एक कैरेक्टर बेस्ट इंटरफ़ेस उपयोग करता है इसमें यूजर ऑपरेटिंगसिस्टम से लिखित आदेशों के माध्यम से संचार करता है  “Copy A: report.txtC:”| आजकलअधिकांश ऑपरेटिंग सिस्टम एक ग्राफिकल यूजर इंटरफेस ( GUI) का उपयोग करते हैं  ग्राफिकल यूजर इंटरफेस में ग्राफिकल एलिमेंट जैसे आइकन और  विंडोज का उपयोग किया जाता है एक नया फीचर,  वायस  रिकॉग्निशन  है, जो कईऑपरेटिंग सिस्टम के साथ उपलब्ध है इससे यूजर को वायस कमांड  द्वारा इंटरेक्ट करने का मौका मिलता है
  3. रनिंग एप्लीकेशंस= ऑपरेटिंग सिस्टम एप्लीकेशन को लोडऔर रन  करता है  जैसे वर्ड प्रोसेसर और स्प्रेडशीटअधिकांश ऑपरेटिंग सिस्टम मल्टीटास्किंग को सपोर्ट करते हैं या मेमोरी में स्टोर कीगई अलग अलगएप्लीकेशन के बीच स्विच करने की क्षमता देते हैं मल्टी टास्किंग से आप एक ही समयपर वर्ड और एक्सेल को चला सकते हैं और 2 एप्लीकेशन के बीच आसानी से स्विच करसकते हैं आप जिस प्रोग्राम पर फिलहाल काम कर रहे हैं उसे फॉर ग्राउंड में रन होरहे प्रोग्राम के तौर पर बताया गया है अन्य प्रोग्राम बैकग्राउंड में रन हो रहेहोते हैं

फीचर्स

कंप्यूटर को स्टार्ट यारियां स्टार्ट करने को सिस्टम को  बूट करना कहते हैं  कंप्यूटर को बूट करने के 2 तरीके होते हैं

  1. वार्मबूट = तब होता है जब कंप्यूटर पहले सेही ऑन होता है और आप पावर ऑफ किए बगैर ही इसे  रीस्टार्ट करते हैं   वार्म बूट को कोई   तरीकों से पूरा किया जा सकता है  कई कंप्यूटर सिस्टम में  पावर बटन को दबाकर रीस्टार्ट किया जा सकता है
  2. कोल्डबूट = = कोल्ड बूट ऑफ हो चुके कंप्यूटरको शुरू करना कोल्ड बूट कहलाता है

दोस्तों यह पोस्टआपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं और आपको लगता है कि इस पोस्ट से आप केकिसी मित्र या किसी रिश्तेदार की कुछ सहायता हो सकती है तो यह पोस्ट  आप नीचे दिए गए सोशल मीडिया लिंक से  उन्हें शेयर भी कर सकते हैं

,

About Pankaj Prajapati

Hello! Friends, My Name is Pankaj Prajapati. I am 19 years old. I’m from Bihari Bujurg In Bihar, Siwan. My Gole is I shall be a software engineer. and I’m ready for this. I’m learning this course next years. I have created this website for all those friends who want to know about technology, in the Hindi language “Prajapatiweb.com” you will get a new article daily, where I will try to give you the help of the world of mobile, computer and technology I can tell about some essential things. Friends, also I have a YouTube Channel which I (Prajapati Web) you can visit. Friends, if you like an article in this website, you can also share the article with your friends at Sent Facebook, WhatsApp, Instagram, Twitter, and Google+ etc. Thank you ………….
View all posts by Pankaj Prajapati →